IPC 71 In Hindi | IPC Section 71 in Hindi | आईपीसी धारा 71 क्या है

इस पोस्ट मे आपको Indian Penal Code (IPC) की IPC 71 In Hindi मे जानकारी दी गई है। इसमे मैने पूरी तरह से IPC 71 In English की पूरी जानकारी मैने दी है।

क्योंकि इसकी जानकारी हर एक अधिवक्ता व वकील को तो होनी ही चाहिए तथा अगर आप पुलिस मे है या फिर आप विधि से संबंधित छात्र हैं तो भी आपको IPC Section 71 In Hindi के बारे मे जानकारी जरूर होनी चाहिए। जिससे की आप कहीं कभी फसें नहीं और न ही कोई आपको दलीलो मे फंसा सके। तो चलिए जानते है IPC 71 Kya Hai.

Dhara 71 Kya Hai

इस ipcsection.com पोर्टल के माध्यम से यहाँ धारा 71 क्या बताती है ? इसके बारे में पूर्ण रूप से बात होगी और आपको धारा 71 IPC In Hindi के बारे मे सारी जानकारी हो जाएगी। साथ ही यह पोर्टल www.ipcsection.com पर और भी अन्य प्रकार के भारतीय दंड संहिता (IPC) की महत्वपूर्ण धाराओं के बारे में मैने काफी विस्तार से बताया गया है आप उन Posts के माध्यम से अन्य धाराओं यानी section के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

IPC 71 In Hindi

IPC Dhara 71 – कई अपराधों से बने अपराध की सजा की सीमा
जहां कुछ भी जो एक अपराध है, भागों से बना है, जिनमें से कोई भी भाग स्वयं एक अपराध है, अपराधी को उसके एक से अधिक अपराधों की सजा से दंडित नहीं किया जाएगा, जब तक कि यह स्पष्ट रूप से प्रदान नहीं किया जाता है। जहां कुछ समय के लिए लागू किसी कानून की दो या दो से अधिक अलग-अलग परिभाषाओं के अंतर्गत आने वाला अपराध है, जिसके द्वारा अपराधों को परिभाषित या दंडित किया जाता है, या जहां कई कार्य, जिनमें से एक या एक से अधिक स्वयं या स्वयं अपराध होते हैं, संयुक्त होने पर, एक अलग अपराध, अपराधी को अदालत की तुलना में अधिक गंभीर सजा से दंडित नहीं किया जाएगा, जो ऐसे किसी भी अपराध के लिए उसे सजा दे सकता है।

रेखांकन
IPC Dhara 71(ए) ए एक छड़ी के साथ जेड को पचास स्ट्रोक देता है। यहां ए ने पूरी पिटाई से और प्रत्येक वार से जेड को स्वेच्छा से चोट पहुंचाने का अपराध किया हो सकता है, जिससे पूरी पिटाई होती है। यदि क प्रत्येक प्रहार के लिए दण्ड का भागी होता, तो उसे प्रत्येक प्रहार के लिए एक, पचास वर्ष की कैद हो सकती थी। लेकिन वह पूरी पिटाई के लिए केवल एक ही दंड के लिए उत्तरदायी है।
IPC Dhara 71(बी) लेकिन अगर, जब ए जेड को हरा रहा है, वाई हस्तक्षेप करता है, और ए जानबूझकर वाई पर हमला करता है, क्योंकि वाई को दिया गया झटका उस कार्य का हिस्सा नहीं है जिसके तहत ए स्वेच्छा से जेड को चोट पहुंचाता है, ए एक सजा के लिए उत्तरदायी है Z को स्वेच्छा से चोट पहुँचाना, और दूसरे को Y को दिए गए प्रहार के लिए।

IPC Section 71 In English

IPC Section 71 – Limit of punishment of offence made up of several offences
Where anything which is an offence is made up of parts, any of which parts is itself an offence, the offender shall not be punished with the punishment of more than one of such his of­fences, unless it be so expressly provided. Where anything is an offence falling within two or more sepa­rate definitions of any law in force for the time being by which offences are defined or punished, or where several acts, of which one or more than one would by itself or themselves constitute an offence, constitute, when combined, a different offence, the offender shall not be punished with a more severe punishment than the Court which tries him could award for any one of such offences.

Illustrations
IPC Section 71(a) A gives Z fifty strokes with a stick. Here A may have commit­ted the offence of voluntarily causing hurt to Z by the whole beating, and also by each of the blows which make up the whole beating. If A were liable to punishment for every blow, he might be imprisoned for fifty years, one for each blow. But he is liable only to one punishment for the whole beating.
IPC Section 71(b) But if, while A is beating Z, Y interferes, and A intention­ally strikes Y, here, as the blow given to Y is no part of the act whereby A voluntarily causes hurt to Z, A is liable to one punishment for voluntarily causing hurt to Z, and to another for the blow given to Y.

आईपीसी धारा 71 क्या है

71 IPC मे शब्द कई अपराधों से बने अपराध की सजा की सीमाके बारे मे बताया गया है। जिसमे जहां कुछ भी जो एक अपराध है, भागों से बना है, जिनमें से कोई भी भाग स्वयं एक अपराध है, अपराधी को उसके एक से अधिक अपराधों की सजा से दंडित नहीं किया जाएगा, जब तक कि यह स्पष्ट रूप से प्रदान नहीं किया जाता है।

अन्य महत्वपूर्ण धाराएं

IPC 61 IN HINDI
IPC 62 IN HINDI
IPC 63 IN HINDI
IPC 64 IN HINDI
IPC 65 IN HINDI
IPC 66 IN HINDI
IPC 67 IN HINDI
IPC 68 IN HINDI
IPC 69 IN HINDI
IPC 70 IN HINDI

तो आपक IPC 71 In Hindi और IPC Section 71 In Hindi की यह जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं, यहाँ मैने IPC Dhara 71 Kya Hota Hai इसकी पूरी जानकारी दैदी है। बाकी पोस्ट को शेयर जरूर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *