IPC 477 In Hindi | IPC Section 477 in Hindi | आईपीसी धारा 477 क्या है?

इस पोस्ट मे आपको Indian Penal Code (IPC) की IPC 477 In Hindi मे जानकारी दी गई है। इसमे मैने पूरी तरह से IPC 477 In English की पूरी जानकारी मैने दी है।

क्योंकि इसकी जानकारी हर एक अधिवक्ता व वकील को तो होनी ही चाहिए तथा अगर आप पुलिस मे है या फिर आप विधि से संबंधित छात्र हैं तो भी आपको IPC Section 477 In Hindi के बारे मे जानकारी जरूर होनी चाहिए। जिससे की आप कहीं कभी फंसें नहीं और न ही कोई आपको दलीलों में फंसा सके। तो चलिए जानते है IPC Dhara 477 Kya Hai.

Dhara 477 Kya Hai

इस ipcsection.com पोर्टल के माध्यम से यहाँ ipc dhara 477 क्या बताती है? इसके बारे में पूर्ण रूप से बात होगी और आपको धारा 477 के बारे मे सारी जानकारी हो जाएगी। साथ ही यह पोर्टल IPCSECTION.com पर और भी अन्य प्रकार के भारतीय दंड संहिता (IPC) की महत्वपूर्ण धाराओं के बारे में मैंने काफी विस्तार से बताया गया है आप उन Posts के माध्यम से अन्य धाराओं यानी section के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

IPC 477 In Hindi

477 IPC In Hindi – वसीयत, गोद लेने के अधिकार, या मूल्यवान सुरक्षा को धोखाधड़ी से रद्द करना, नष्ट करना आदि।
जो कोई धोखे से या बेईमानी से, या जनता को या किसी व्यक्ति को नुकसान या चोट पहुंचाने के इरादे से, रद्द करता है, नष्ट करता है या विरूपित करता है, या रद्द करने का प्रयास करता है, नष्ट करता है या विरूपित करता है, या किसी दस्तावेज़ को छिपाता है या गुप्त रखने का प्रयास करता है जो कि है या होने का तात्पर्य है एक वसीयत, या एक बेटे को गोद लेने का अधिकार, या कोई मूल्यवान सुरक्षा, या ऐसे दस्तावेजों के संबंध में शरारत करता है, उसे आजीवन कारावास, या दोनों में से किसी भी विवरण के कारावास के साथ दंडित किया जाएगा, जो सात तक हो सकता है। वर्ष, और जुर्माना के लिए भी उत्तरदायी होगा।

ipc sections hindi english

IPC Section 477 In English

IPC Section 477 – Fraudulent cancellation, destruction, etc., of will, authori­ty to adopt, or valuable security.
Whoever fraudulently or dishonestly, or with intent to cause damage or injury to the public or to any person, cancels, destroys or defaces, or at­tempts to cancel, destroy or deface, or secretes or attempts to secrete any document which is or purports to be a will, or an authority to adopt a son, or any valuable security, or commits mischief in respect of such documents, shall be punished with 1[imprisonment for life], or with imprisonment of either descrip­tion for a term which may extend to seven years, and shall also be liable to fine.

Note – If you have any issue so prefer only English Verison of this IPC section.

IPC 477 Kya Hai?

Other Important Acts

IPC 471 IN HINDI
IPC 472 IN HINDI
IPC 473 IN HINDI
IPC 474 IN HINDI
IPC 475 IN HINDI
IPC 476 IN HINDI
IPC 467 IN HINDI
IPC 468 IN HINDI
IPC 469 IN HINDI
IPC 470 IN HINDI

तो आपक IPC 477 In Hindi और IPC Section 477 की यह जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं, यहाँ मैने 477 IPC dhara in hindi में इसकी पूरी जानकारी देदी है। बाकी पोस्ट को शेयर जरूर करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *