IPC 466 In Hindi | IPC Section 466 in Hindi | आईपीसी धारा 466 क्या है?

इस पोस्ट मे आपको Indian Penal Code (IPC) की IPC 466 In Hindi मे जानकारी दी गई है। इसमे मैने पूरी तरह से IPC 466 In English की पूरी जानकारी मैने दी है।

क्योंकि इसकी जानकारी हर एक अधिवक्ता व वकील को तो होनी ही चाहिए तथा अगर आप पुलिस मे है या फिर आप विधि से संबंधित छात्र हैं तो भी आपको IPC Section 466 In Hindi के बारे मे जानकारी जरूर होनी चाहिए। जिससे की आप कहीं कभी फंसें नहीं और न ही कोई आपको दलीलों में फंसा सके। तो चलिए जानते है IPC Dhara 466 Kya Hai.

Dhara 466 Kya Hai

इस ipcsection.com पोर्टल के माध्यम से यहाँ ipc dhara 466 क्या बताती है? इसके बारे में पूर्ण रूप से बात होगी और आपको धारा 466 के बारे मे सारी जानकारी हो जाएगी। साथ ही यह पोर्टल IPCSECTION.com पर और भी अन्य प्रकार के भारतीय दंड संहिता (IPC) की महत्वपूर्ण धाराओं के बारे में मैंने काफी विस्तार से बताया गया है आप उन Posts के माध्यम से अन्य धाराओं यानी section के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

IPC 466 In Hindi

466 IPC In Hindi – न्यायालय के रिकॉर्ड या सार्वजनिक रजिस्टर आदि की जालसाजी।
जो कोई भी एक दस्तावेज या एक इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्ड बनाता है, एक रिकॉर्ड या कार्यवाही या न्यायालय में, या जन्म, बपतिस्मा, विवाह या दफन का एक रजिस्टर, या एक लोक सेवक द्वारा रखा गया एक रजिस्टर, या एक प्रमाण पत्र या किसी लोक सेवक द्वारा अपनी आधिकारिक क्षमता में बनाए जाने के लिए बनाए गए दस्तावेज़, या किसी मुकदमे को संस्थित करने या बचाव करने के लिए, या उसमें कोई कार्यवाही करने के लिए, या निर्णय को स्वीकार करने के लिए, या मुख्तारनामा, या तो कारावास से दंडित किया जाएगा एक अवधि के लिए विवरण जो सात साल तक बढ़ाया जा सकता है, और जुर्माना के लिए भी उत्तरदायी होगा।
स्पष्टीकरण – इस खंड के प्रयोजनों के लिए, “रजिस्टर” में उप-धारा के खंड (आर) में परिभाषित इलेक्ट्रॉनिक रूप में रखी गई किसी भी प्रविष्टि की कोई सूची, डेटा या रिकॉर्ड शामिल है।
(1) सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 की धारा 2 का।

ipc sections hindi english

IPC Section 466 In English

IPC Section 466 – Forgery of record of Court or of public register, etc.
Whoever forges a document or an electronic record, purporting to be a record or proceed­ing of or in a Court of Justice, or a register of birth, baptism, marriage or burial, or a register kept by a public servant as such, or a certificate or document purporting to be made by a public servant in his official capacity, or an authority to institute or defend a suit, or to take any proceedings therein, or to confess judgment, or a power of attorney, shall be punished with imprisonment of either description for a term which may extend to seven years, and shall also be liable to fine.
Explanation— For the purposes of this section, “register” includes any list, data or record of any entries maintained in the electronic form as defined in clause (r) of sub-section
(1) of section 2 of the Information Technology Act, 2000.

Note – If you have any issue so prefer only English Verison of this IPC section.

IPC 466 Kya Hai?

Other Important Acts

IPC 461 IN HINDI
IPC 462 IN HINDI
IPC 463 IN HINDI
IPC 464 IN HINDI
IPC 465 IN HINDI
IPC 456 IN HINDI
IPC 457 IN HINDI
IPC 458 IN HINDI
IPC 459 IN HINDI
IPC 460 IN HINDI

तो आपक IPC 466 In Hindi और IPC Section 466 की यह जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं, यहाँ मैने 466 IPC dhara in hindi में इसकी पूरी जानकारी देदी है। बाकी पोस्ट को शेयर जरूर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *