IPC 461 In Hindi | IPC Section 461 in Hindi | आईपीसी धारा 461 क्या है?

इस पोस्ट मे आपको Indian Penal Code (IPC) की IPC 461 In Hindi मे जानकारी दी गई है। इसमे मैने पूरी तरह से IPC 461 In English की पूरी जानकारी मैने दी है।

क्योंकि इसकी जानकारी हर एक अधिवक्ता व वकील को तो होनी ही चाहिए तथा अगर आप पुलिस मे है या फिर आप विधि से संबंधित छात्र हैं तो भी आपको IPC Section 461 In Hindi के बारे मे जानकारी जरूर होनी चाहिए। जिससे की आप कहीं कभी फंसें नहीं और न ही कोई आपको दलीलों में फंसा सके। तो चलिए जानते है IPC Dhara 461 Kya Hai.

Dhara 461 Kya Hai

इस ipcsection.com पोर्टल के माध्यम से यहाँ ipc dhara 461 क्या बताती है? इसके बारे में पूर्ण रूप से बात होगी और आपको धारा 461 के बारे मे सारी जानकारी हो जाएगी। साथ ही यह पोर्टल IPCSECTION.com पर और भी अन्य प्रकार के भारतीय दंड संहिता (IPC) की महत्वपूर्ण धाराओं के बारे में मैंने काफी विस्तार से बताया गया है आप उन Posts के माध्यम से अन्य धाराओं यानी section के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

IPC 461 In Hindi

461 IPC In Hindi – संपत्ति वाले पात्र को बेईमानी से तोड़ना।
जो कोई बेईमानी से या शरारत करने के इरादे से, किसी बंद पात्र को तोड़ता है या खोलता है जिसमें संपत्ति है या जिसके बारे में उनका मानना है कि इसमें संपत्ति है, उसे किसी एक अवधि के लिए कारावास जिसे दो साल तक बढ़ाया जा सकता है, या जुर्माने से, या साथ में दंडित किया जाएगा। दोनों।

ipc sections hindi english

IPC Section 461 In English

IPC Section 461 – Dishonestly breaking open receptacle containing property.
Whoever dishonestly or with intent to commit mischief, breaks open or unfastens any closed receptacle which contains or which he believes to contain property, shall be punished with imprison­ment of either description for a term which may extend to two years, or with fine, or with both.

Note – If you have any issue so prefer only English Verison of this IPC section.

IPC 461 Kya Hai?

Other Important Acts

IPC 451 IN HINDI
IPC 452 IN HINDI
IPC 453 IN HINDI
IPC 454 IN HINDI
IPC 455 IN HINDI
IPC 456 IN HINDI
IPC 457 IN HINDI
IPC 458 IN HINDI
IPC 459 IN HINDI
IPC 460 IN HINDI

तो आपक IPC 461 In Hindi और IPC Section 461 की यह जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं, यहाँ मैने 461 IPC dhara in hindi में इसकी पूरी जानकारी देदी है। बाकी पोस्ट को शेयर जरूर करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *