IPC 441 In Hindi | IPC Section 441 in Hindi | आईपीसी धारा 441 क्या है?

इस पोस्ट मे आपको Indian Penal Code (IPC) की IPC 441 In Hindi मे जानकारी दी गई है। इसमे मैने पूरी तरह से IPC 441 In English की पूरी जानकारी मैने दी है।

क्योंकि इसकी जानकारी हर एक अधिवक्ता व वकील को तो होनी ही चाहिए तथा अगर आप पुलिस मे है या फिर आप विधि से संबंधित छात्र हैं तो भी आपको IPC Section 441 In Hindi के बारे मे जानकारी जरूर होनी चाहिए। जिससे की आप कहीं कभी फंसें नहीं और न ही कोई आपको दलीलों में फंसा सके। तो चलिए जानते है IPC Dhara 441 Kya Hai.

Dhara 441 Kya Hai

इस ipcsection.com पोर्टल के माध्यम से यहाँ ipc dhara 441 क्या बताती है? इसके बारे में पूर्ण रूप से बात होगी और आपको धारा 441 के बारे मे सारी जानकारी हो जाएगी। साथ ही यह पोर्टल IPCSECTION.com पर और भी अन्य प्रकार के भारतीय दंड संहिता (IPC) की महत्वपूर्ण धाराओं के बारे में मैंने काफी विस्तार से बताया गया है आप उन Posts के माध्यम से अन्य धाराओं यानी section के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

IPC 441 In Hindi

441 IPC In Hindi – आपराधिक अतिचार।
जो कोई अपराध करने के इरादे से या ऐसी संपत्ति के कब्जे वाले किसी भी व्यक्ति को धमकाने, अपमान करने या परेशान करने के इरादे से या किसी अन्य के कब्जे में संपत्ति में प्रवेश करता है, या कानूनी रूप से या ऐसी संपत्ति में प्रवेश करता है, गैरकानूनी रूप से वहां रहने के इरादे से रहता है किसी ऐसे व्यक्ति का अपमान या नाराज़ करना, या अपराध करने के इरादे से, “आपराधिक अतिचार” करने के लिए कहा जाता है।

राज्य संशोधन
ओडिशा

धारा 441 के स्थान पर, निम्नलिखित धारा को प्रतिस्थापित किया जाएगा,
अर्थात्:- “441.
आपराधिक अतिचार।
जो कोई अपराध करने के इरादे से या ऐसी संपत्ति के कब्जे वाले किसी व्यक्ति को धमकाने, अपमान करने या परेशान करने के इरादे से किसी अन्य के कब्जे में संपत्ति में प्रवेश करता है, या, कानूनी रूप से या ऐसी संपत्ति में प्रवेश करके, गैरकानूनी रूप से वहां रहने के इरादे से रहता है जिससे डराना किसी ऐसे व्यक्ति का अपमान या नाराज़ करना या अपराध करने के इरादे से, या कानूनी रूप से ऐसी संपत्ति में प्रवेश करना या उस पर अनधिकृत कब्ज़ा लेने या ऐसी संपत्ति का अनधिकृत उपयोग करने के इरादे से वहाँ रहता है और ऐसी संपत्ति या उसके कब्जे को वापस लेने में विफल रहता है या उपयोग, जब किसी अन्य व्यक्ति द्वारा लिखित में नोटिस द्वारा ऐसा करने के लिए कहा जाता है, उस पर विधिवत तामील किया जाता है, तो कहा जाता है कि उसने “आपराधिक अतिचार” किया है। [1986 के उड़ीसा अधिनियम 22, धारा। 2 (प्रभावी 6-12-1986)]।

उतार प्रदेश।
धारा 441 के स्थान पर निम्नलिखित को प्रतिस्थापित करें:- “441.
आपराधिक अतिचार।
जो कोई भी अपराध करने के इरादे से या किसी अन्य व्यक्ति के कब्जे में संपत्ति में प्रवेश करता है या ऐसी संपत्ति के कब्जे वाले व्यक्ति को धमकाने, अपमान करने या परेशान करने के लिए, या कानूनी रूप से प्रवेश करता है या ऐसी संपत्ति पर अवैध रूप से रहता है जिससे डराने, अपमान करने का इरादा होता है या किसी ऐसे व्यक्ति को नाराज करना, या अपराध करने के इरादे से, या, ऐसी संपत्ति में प्रवेश करना या उस पर, चाहे आपराधिक कानून (यू.पी. संशोधन) अधिनियम, 1961 के लागू होने से पहले या बाद में, अनधिकृत रूप से लेने के इरादे से इस तरह की संपत्ति का कब्जा या अनधिकृत उपयोग ऐसी संपत्ति या इसके कब्जे या उपयोग से वापस लेने में विफल रहता है, जब किसी अन्य व्यक्ति द्वारा लिखित रूप में नोटिस द्वारा ऐसा करने के लिए कहा जाता है, नोटिस में निर्दिष्ट तिथि तक उसे विधिवत तामील किया जाता है, कहा जाता है “आपराधिक अपराध” करने के लिए।

ipc sections hindi english

IPC Section 441 In English

IPC Section 441 – Criminal trespass.
Whoever enters into or upon property in the possession of another with intent to commit an offence or to intimidate, insult or annoy any person in possession of such property, or having lawfully entered into or upon such property, unlawfully remains there with intent thereby to intimidate, insult or annoy any such person, or with intent to commit an offence, is said to commit “criminal trespass”.

STATE AMENDMENT
Orissa

For section 441, the following section shall be substituted,
namely:— “441.
Criminal Trespass.
Whoever enters into or upon property in possession of another with intent to commit an offence or to intimidate, insult or annoy any person in possession of such property, or, having lawfully entered into or upon such property, unlawfully remains there with intent thereby to intimidate, insult or annoy any such person or with intent to commit an offence, or having lawfully entered into or upon such property, remains there with the intention of taking unauthorised possession or making unauthorised use of such property and fails to withdraw such property or its possession or use, when called upon to do so by that another person by notice in writing, duly served on him, is said to have commit “criminal trespass.“ [Vide Orissa Act 22 of 1986, sec. 2 (w.e.f. 6-12-1986)].

Uttar Pradesh.
For section 441, substitute the following:— “441.
Criminal Trespass.
Whoever enters into or upon property in possession of another with intent to commit an offence or to intimidate, insult or annoy and person in possession of such property, or having lawfully entered into or upon such property, unlawfully remains therewith intent thereby to intimidate, insult or annoy any such person, or with intent to commit an offence, or, having entered into or upon such property, whether before or after the coming into force of the Criminal Law (U.P. Amendment) Act, 1961, with the intention of taking unauthorised possession or making unauthorised use of such property fails to withdraw from such property or its possession or use, when called upon to do so by that another person by notice in writing, duly served upon him, by the date specified in the notice, is said to commit “criminal trespass”.

Note – If you have any issue so prefer only English Verison of this IPC section.

IPC 441 Kya Hai?

Other Important Acts

IPC 431 IN HINDI
IPC 432 IN HINDI
IPC 433 IN HINDI
IPC 434 IN HINDI
IPC 435 IN HINDI
IPC 436 IN HINDI
IPC 437 IN HINDI
IPC 438 IN HINDI
IPC 439 IN HINDI
IPC 440 IN HINDI

तो आपक IPC 441 In Hindi और IPC Section 441 की यह जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं, यहाँ मैने 441 IPC dhara in hindi में इसकी पूरी जानकारी देदी है। बाकी पोस्ट को शेयर जरूर करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *