IPC 373 In Hindi | IPC Section 373 in Hindi | आईपीसी धारा 373 क्या है?

इस पोस्ट मे आपको Indian Penal Code (IPC) की IPC 373 In Hindi मे जानकारी दी गई है। इसमे मैने पूरी तरह से IPC 373 In English की पूरी जानकारी मैने दी है।

क्योंकि इसकी जानकारी हर एक अधिवक्ता व वकील को तो होनी ही चाहिए तथा अगर आप पुलिस मे है या फिर आप विधि से संबंधित छात्र हैं तो भी आपको IPC Section 373 In Hindi के बारे मे जानकारी जरूर होनी चाहिए। जिससे की आप कहीं कभी फंसें नहीं और न ही कोई आपको दलीलों में फंसा सके। तो चलिए जानते है IPC 373 Kya Hai.

Dhara 373 Kya Hai

इस ipcsection.com पोर्टल के माध्यम से यहाँ ipc dhara 373 क्या बताती है? इसके बारे में पूर्ण रूप से बात होगी और आपको धारा 373 के बारे मे सारी जानकारी हो जाएगी। साथ ही यह पोर्टल IPCSECTION.com पर और भी अन्य प्रकार के भारतीय दंड संहिता (IPC) की महत्वपूर्ण धाराओं के बारे में मैंने काफी विस्तार से बताया गया है आप उन Posts के माध्यम से अन्य धाराओं यानी section के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

IPC 373 In Hindi

373 IPC In Hindi – वेश्यावृत्ति आदि के प्रयोजनों के लिए नाबालिगों को खरीदना।
जो कोई भी अठारह वर्ष से कम आयु के किसी व्यक्ति को खरीदता है, किराए पर लेता है या अन्यथा इस इरादे से कब्जा करता है कि ऐसे व्यक्ति को किसी भी उम्र में वेश्यावृत्ति या किसी व्यक्ति के साथ अवैध संभोग या किसी गैरकानूनी और अनैतिक उद्देश्य के लिए नियोजित या उपयोग किया जाएगा, यह जानने की संभावना है कि ऐसे व्यक्ति को किसी भी उम्र में नियोजित किया जाएगा या किसी भी उद्देश्य के लिए उपयोग किया जाएगा, दोनों में से किसी भी विवरण के कारावास से दंडित किया जाएगा जो दस साल तक बढ़ सकता है, और जुर्माना के लिए भी उत्तरदायी होगा।

स्पष्टीकरण I – कोई वेश्या या वेश्यालय चलाने वाला या उसका प्रबंधन करने वाला कोई भी व्यक्ति, जो अठारह वर्ष से कम उम्र की महिला को खरीदता है, किराए पर लेता है, या अन्यथा उसका कब्जा प्राप्त करता है, जब तक कि इसके विपरीत साबित न हो जाए, यह माना जाएगा कि उसने ऐसी महिला का कब्ज़ा प्राप्त कर लिया है। इरादा है कि उसे वेश्यावृत्ति के उद्देश्य के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।
स्पष्टीकरण II – “अवैध संभोग” का वही अर्थ है जो धारा 372 में है।

ipc sections hindi english

IPC Section 373 In English

IPC Section 373 – Buying minors for purposes of prostitution, etc.
Whoever buys, hires or otherwise obtains possession of any person under the age of eighteen years with the intent that such person shall at any age be employed or used for the purpose of prostitution or illicit intercourse with any person or for any unlawful and immoral purpose, of knowing it to be likely that such person will at any age be employed or used for any purpose, shall be pun­ished with imprisonment of either description for a term which may extend to ten years, and shall also be liable to fine.

Explanation I— Any prostitute or any person keeping or manag­ing a brothel, who buys, hires, or otherwise obtains possession of a female under the age of eighteen years shall, until the con­trary is proved, be presumed to have obtained possession of such female with the intent that she shall be used for the purpose of prostitution.
Explanation II— “Illicit intercourse” has the same meaning as in section 372.

आईपीसी धारा 373 क्या है?

Other Important Acts

IPC 371 IN HINDI
IPC 372 IN HINDI
IPC 363 IN HINDI
IPC 364 IN HINDI
IPC 365 IN HINDI
IPC 366 IN HINDI
IPC 367 IN HINDI
IPC 368 IN HINDI
IPC 369 IN HINDI
IPC 370 IN HINDI

तो आपक IPC 373 In Hindi और IPC Section 373 की यह जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं, यहाँ मैने 373 IPC dhara in hindi में इसकी पूरी जानकारी देदी है। बाकी पोस्ट को शेयर जरूर करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *