IPC 354 In Hindi | IPC Section 354 in Hindi | आईपीसी धारा 354 क्या है

इस पोस्ट मे आपको Indian Penal Code (IPC) की IPC 354 In Hindi मे जानकारी दी गई है। इसमे मैने पूरी तरह से IPC 354 In English की पूरी जानकारी मैने दी है।

क्योंकि इसकी जानकारी हर एक अधिवक्ता व वकील को तो होनी ही चाहिए तथा अगर आप पुलिस मे है या फिर आप विधि से संबंधित छात्र हैं तो भी आपको IPC Section 354 In Hindi के बारे मे जानकारी जरूर होनी चाहिए। जिससे की आप कहीं कभी फसें नहीं और न ही कोई आपको दलीलो मे फंसा सके। तो चलिए जानते है IPC 354 Kya Hai.

Dhara 354 Kya Hai

इस ipcsection.com पोर्टल के माध्यम से यहाँ धारा 354 क्या बताती है ? इसके बारे में पूर्ण रूप से बात होगी और आपको धारा 354 IPC In Hindi के बारे मे सारी जानकारी हो जाएगी। साथ ही यह पोर्टल www.ipcsection.com पर और भी अन्य प्रकार के भारतीय दंड संहिता (IPC) की महत्वपूर्ण धाराओं के बारे में मैने काफी विस्तार से बताया गया है आप उन Posts के माध्यम से अन्य धाराओं यानी section के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

IPC 354 In Hindi

IPC Dhara 354 – शील भंग करने के आशय से महिला पर हमला या आपराधिक बल
जो कोई भी किसी महिला पर हमला करता है या आपराधिक बल का प्रयोग करता है, उसे अपमानित करने के इरादे से या यह जानते हुए कि वह उसकी लज्जा को भंग कर देगा, उसे किसी भी प्रकार के कारावास से दंडित किया जाएगा, जिसकी अवधि एक वर्ष से कम नहीं होगी, लेकिन जिसे बढ़ाया जा सकता है पांच साल तक, और जुर्माना के लिए भी उत्तरदायी होगा।

राज्य संशोधन
आंध्र प्रदेश
धारा 354 के स्थान पर निम्नलिखित धारा रखी जाएगी, अर्थात्-
354 – शील भंग करने के आशय से महिला पर हमला या आपराधिक बल-
जो कोई किसी महिला पर हमला करने या आपराधिक बल का उपयोग करने के इरादे से या यह जानते हुए कि वह उसकी लज्जा को भंग करने की संभावना जानता है, उसे किसी भी प्रकार के कारावास से दंडित किया जाएगा, जिसकी अवधि पांच वर्ष से कम नहीं होगी, लेकिन जिसे बढ़ाया जा सकता है सात साल और जुर्माना के लिए भी उत्तरदायी होगा:
बशर्ते कि न्यायालय निर्णय में उल्लिखित पर्याप्त और विशेष कारणों के लिए, किसी एक अवधि के लिए कारावास की सजा दे सकता है जो पांच साल से कम हो सकता है लेकिन जो दो साल से कम नहीं होगा।

छत्तीसगढ
दंड संहिता की धारा 354 में, निम्नलिखित परंतुक अंत:स्थापित किया जाएगा, अर्थात्-
बशर्ते कि इस धारा के तहत किसी रिश्तेदार, अभिभावक या शिक्षक या विश्वास या अधिकार की स्थिति में किसी व्यक्ति द्वारा हमला किए गए व्यक्ति के प्रति अपराध किया जाता है, तो वह किसी भी अवधि के कारावास से दंडनीय होगा जो कि कम से कम नहीं होगा दो साल लेकिन जो सात साल तक हो सकता है और जुर्माने के लिए भी उत्तरदायी होगा।
दंड संहिता की धारा 354डी के बाद, निम्नलिखित को सम्मिलित किया जाएगा, अर्थात्:-
354ई – उपस्थित देयता व्यक्ति जो धारा 354, 354ए, 354बी, 354सी, 354डी के तहत अपराध के कमीशन को रोकने में विफल रहता है।
जो कोई धारा 354, धारा 354ए, धारा 354बी, धारा 354सी या धारा 354डी के तहत अपराध के कमीशन के समय मौजूद है और इस तरह के अपराध को रोकने में सक्षम है, ऐसे अपराध को रोकने में विफल रहता है या स्थिति में नहीं है इस तरह के अपराध को रोकने के लिए, इस तरह के अपराध के कमीशन की जानकारी निकटतम मजिस्ट्रेट या पुलिस अधिकारी को किसी भी तरह से, कानूनी दंड से अपराधी की जांच करने के इरादे से देने में विफल रहता है, ऐसे अपराध के लिए उकसाने के लिए उत्तरदायी होगा और किसी भी प्रकार के कारावास से, जिसे तीन वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है या जुर्माना या दोनों से दंडित किया जा सकता है।

ओडिशा
2 [दंड प्रक्रिया संहिता, 1973 की पहली अनुसूची में भारतीय दंड संहिता 1860 की धारा 354 से संबंधित कॉलम 5 के तहत प्रविष्टि में ‘जमानती’ शब्द के स्थान पर ‘गैर-जमानती’ शब्द रखा जाएगा।
मध्य प्रदेश
धारा 354 के बाद, धारा 354-ए को निम्नलिखित के रूप में डाला गया है
354-ए—महिलाओं के कपड़े उतारने के इरादे से उनके साथ मारपीट या आपराधिक बल का प्रयोग।
जो कोई किसी महिला पर हमला करता है या आपराधिक बल का प्रयोग करता है या उकसाता है या हमला करने की साजिश करता है या ऐसी आपराधिक बल का उपयोग किसी भी महिला को अपमानित करने के इरादे से करता है या यह जानता है कि इस तरह के हमले से, वह इस तरह से अपमान करेगा या शील भंग का कारण बनेगा। महिलाओं को नग्न या किसी सार्वजनिक स्थान पर निर्वस्त्र करने या मजबूर करने के लिए, कारावास से दंडित किया जाएगा, जिसकी अवधि एक वर्ष से कम नहीं होगी, लेकिन जो दस वर्ष तक की हो सकती है और जुर्माने के लिए भी उत्तरदायी होगी।

IPC Section 354 In English

IPC Section 354 – Assault or criminal force to woman with intent to outrage her modesty
Whoever assaults or uses criminal force to any woman, intending to outrage or knowing it to be likely that he will thereby outrage her modesty, shall be punished with imprisonment of either description for a term which shall not be less than one year but which may extend to five years, and shall also be liable to fine.

STATE AMENDMENTS
ANDHRA PRADESH
For section 354, the following section shall be substituted, namely-
354 – Assault or criminal force to woman with intent to outrage her modesty-
Whoever assaults or uses criminal force to any woman intending to outrage or knowing it to be likely that he will thereby outrage her modesty, shall be punished with imprisonment of either description for a term which shall not be less than five years but which may extend to seven years and shall also be liable to fine:
Provided that the court may for adequate and special reasons to be mentioned in the judgment, impose a sentence of imprisonment of either description for a term which may be less than five years but which shall not be less than two years.

CHHATTISGARH
In Section 354 of the Penal Code, the following proviso shall be inserted, namely-
Provided that where offence is committed, under this Section by a relative, guardian or teacher or a person in a position of trust or authority towards the person assaulted, he shall be punishable with imprisonment of either description for a term which shall not be less than two years but which may extend to seven years and shall also be liable to fine.
After Section 354D of the Penal Code, the following shall be inserted, namely:-
354E – Liability person present who fails to prevent the commission of offence under Section 354, 354A, 354B, 354C, 354D.-
Whoever, being present at the time of the commission of an offence under section 354, section 354A, section 354B, section 354C or section 354D and being able to prevent such offence, fails to prevent the commission of such offence or not being in position to prevent the commission of such offence, fails to give information of the commission of such offence to the nearest magistrate or police officer, by any mode, with the intention of screening the offender from legal punishment, shall be liable for abetment of such offence and shall be punished with imprisonment of either description which may extend to three years or with fine or with both.

ORISSA
2[In the First Schedule to the code of Criminal Procedure, 1973 in the entry under column 5 relating to Section 354 of the Indian Penal Code 1860 for the word ‘bailable’ the word ‘non-bailable’ shall be substituted.
MADHYA PRADESH
After Section 354, Section 354-A inserted as following
354-A —Assualt or use of criminal force to women with intent to disrobe her.
Whoever assaults or uses criminal force to any women or abets or conspires to assault or uses such criminal force to any women intending to outrage or knowing it to be likely that by such assault, he will thereby outrage or causes to be outraged the modesty of the women by disrobing or compel her to be naked or any public place, shall be punished with imprisonment with either description for a term which shall not be less than one year but which may extent to ten years and shall also be liable to fine.

आईपीसी धारा 354 क्या है

इसमे (354 IPC) शील भंग करने के आशय से महिला पर हमला या आपराधिक बल के बारे मे बताया गया है बाकी इसमे जो कोई भी किसी महिला पर हमला करता है या आपराधिक बल का प्रयोग करता है, उसे अपमानित करने के इरादे से या यह जानते हुए कि वह उसकी लज्जा को भंग कर देगा, उसे किसी भी प्रकार के कारावास से दंडित किया जाएगा, जिसकी अवधि एक वर्ष से कम नहीं होगी, लेकिन जिसे बढ़ाया जा सकता है पांच साल तक, और जुर्माना के लिए भी उत्तरदायी होगा।

अन्य महत्वपूर्ण धाराएं

IPC 307 IN HINDI
IPC 308 IN HINDI
IPC 309 IN HINDI
IPC 323 IN HINDI
IPC 506 IN HINDI
IPC 6 IN HINDI
IPC 7 IN HINDI
IPC 8 IN HINDI
IPC 9 IN HINDI
IPC 10 IN HINDI

तो आपक IPC 354 In Hindi और IPC Section 354 In Hindi की यह जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं, यहाँ मैने IPC Dhara 354 Kya Hota Hai इसकी पूरी जानकारी दैदी है। बाकी पोस्ट को शेयर जरूर करें।

Leave a Comment