IPC 107 In Hindi | IPC Section 107 in Hindi | आईपीसी धारा 107 क्या है

इस पोस्ट मे आपको Indian Penal Code (IPC) की IPC 107 In Hindi मे जानकारी दी गई है। इसमे मैने पूरी तरह से IPC 107 In English की पूरी जानकारी मैने दी है।

क्योंकि इसकी जानकारी हर एक अधिवक्ता व वकील को तो होनी ही चाहिए तथा अगर आप पुलिस मे है या फिर आप विधि से संबंधित छात्र हैं तो भी आपको IPC Section 107 In Hindi के बारे मे जानकारी जरूर होनी चाहिए। जिससे की आप कहीं कभी फसें नहीं और न ही कोई आपको दलीलो मे फंसा सके। तो चलिए जानते है IPC 107 Kya Hai.

Dhara 107 Kya Hai

इस ipcsection.com पोर्टल के माध्यम से यहाँ धारा 107 क्या बताती है ? इसके बारे में पूर्ण रूप से बात होगी और आपको धारा 107 IPC In Hindi के बारे मे सारी जानकारी हो जाएगी। साथ ही यह पोर्टल www.ipcsection.com पर और भी अन्य प्रकार के भारतीय दंड संहिता (IPC) की महत्वपूर्ण धाराओं के बारे में मैने काफी विस्तार से बताया गया है आप उन Posts के माध्यम से अन्य धाराओं यानी section के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

IPC 107 In Hindi

IPC Dhara 107 – किसी बात का दुष्प्रेरण ।
एक व्यक्ति किसी काम को करने के लिए उकसाता है, जो-
(प्रथम) — किसी भी व्यक्ति को वह काम करने के लिए उकसाता है; या
(दूसरा) – उस काम को करने के लिए किसी भी साजिश में एक या एक से अधिक अन्य व्यक्ति या व्यक्तियों के साथ संलग्न होता है, यदि उस साजिश के अनुसरण में कोई कार्य या अवैध चूक होती है, और उस काम को करने के लिए; या
(तीसरा) – जानबूझकर, किसी भी कार्य या अवैध चूक से, उस चीज़ को करने में सहायता करता है।

स्पष्टीकरण 1.— एक व्यक्ति, जो जानबूझकर गलत बयानी द्वारा, या एक भौतिक तथ्य को जानबूझकर छुपाने के लिए जिसे वह प्रकट करने के लिए बाध्य है, स्वेच्छा से किसी चीज का कारण बनता है या प्राप्त करता है, या करने का प्रयास करता है या प्राप्त करने का प्रयास करता है, उसे उकसाने वाला कहा जाता है। उस चीज का करना। उदाहरण ए, एक सार्वजनिक अधिकारी, जेड को पकड़ने के लिए न्याय के न्यायालय से वारंट द्वारा अधिकृत है। बी, इस तथ्य को जानते हुए और यह भी कि सी जेड नहीं है, जानबूझकर ए का प्रतिनिधित्व करता है कि सी जेड है, और इस तरह जानबूझकर ए को पकड़ने का कारण बनता है सी। यहां बी ने सी की आशंका को उकसाया।
स्पष्टीकरण 2.— जो कोई किसी कार्य के होने से पहले या उसके समय पर, उस अधिनियम के कमीशन को सुगम बनाने के लिए कुछ भी करता है, और इस प्रकार उसके कमीशन को सुगम बनाता है, यह कहा जाता है कि वह उस कार्य को करने में सहायता करता है।

IPC Section 107 In English

IPC Section 107 – Abetment of a thing.
A person abets the doing of a thing, who—
(First) — Instigates any person to do that thing; or
(Secondly) — Engages with one or more other person or persons in any conspiracy for the doing of that thing, if an act or illegal omission takes place in pursuance of that conspiracy, and in order to the doing of that thing; or
(Thirdly) — Intentionally aids, by any act or illegal omission, the doing of that thing.

Explanation 1.— A person who, by wilful misrepresentation, or by wilful concealment of a material fact which he is bound to dis­close, voluntarily causes or procures, or attempts to cause or procure, a thing to be done, is said to instigate the doing of that thing. Illustration A, a public officer, is authorized by a warrant from a Court of Justice to apprehend Z. B, knowing that fact and also that C is not Z, wilfully represents to A that C is Z, and thereby intentionally causes A to apprehend C. Here B abets by instigation the apprehension of C.
Explanation 2.— Whoever, either prior to or at the time of the commission of an act, does anything in order to facilitate the commission of that act, and thereby facilitate the commission thereof, is said to aid the doing of that act.

आईपीसी धारा 107 क्या है

107 IPC मे शब्द किसी बात का दुष्प्रेरण के बारे मे बताया गया है। जिसमे एक व्यक्ति किसी काम को करने के लिए उकसाता है, किसी भी व्यक्ति को वह काम करने के लिए उकसाता है, उस काम को करने के लिए किसी भी साजिश में एक या एक से अधिक अन्य व्यक्ति या व्यक्तियों के साथ संलग्न होता है, यदि उस साजिश के अनुसरण में कोई कार्य या अवैध चूक होती है, और उस काम को करने के लिए, जानबूझकर, किसी भी कार्य या अवैध चूक से, उस चीज़ को करने में सहायता करता है।

अन्य महत्वपूर्ण धाराएं

IPC 101 IN HINDI
IPC 102 IN HINDI
IPC 103 IN HINDI
IPC 104 IN HINDI
IPC 105 IN HINDI
IPC 106 IN HINDI
IPC 97 IN HINDI
IPC 98 IN HINDI
IPC 99 IN HINDI
IPC 100 IN HINDI

तो आपक IPC 107 In Hindi और IPC Section 107 In Hindi की यह जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं, यहाँ मैने IPC Dhara 107 Kya Hota Hai इसकी पूरी जानकारी देदी है। बाकी पोस्ट को शेयर जरूर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *